जगदीश गाँधी ने ट्रम्प से विश्व में एकता के लिए अनुरोध किया

नई दिल्लीः, विश्व प्रसिद्ध शिक्षाविद्ध एवं संस्थापक-प्रबन्धक, सिटी मोन्टेसरी स्कूल (सी.एम.एस.), लखनऊ, डाॅ. जगदीश गाँधी ने नई दिल्ली के एक प्रतिष्ठित होटल में आयोजित प्रेस कान्फ्रॅान्स में प्रेस एवं मीडिया को सम्बोधित करते हुए बताया कि उन्होंने दुनियाँ के 2.5 अरब बच्चों और आगे आने वाली पीढ़ियों की ओर से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से अपील की है कि वे उनके भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए विश्व के सभी प्रभुसत्ता सम्पन्न राष्ट्रों की बैठक बुलाकर एक वैश्विक लोकतंत्र (विश्व संसद) की स्थापना करें।

डाॅ. जगदीश गाँधी ने अपने पत्र के माध्यम से राष्ट्रपति ट्रम्प से अनुरोध किया है कि उन्होंने विश्व में एकता और शांति लाने के लिए जो वायदें किये थे उसे पूरा करें जो कि उन्होंने 15 दिसम्बर 2015 को अमेरिकी मतदाताओं को सम्बोधित करते हुए लास बेगास (अमेरिका) में कहा था कि ‘‘मैं दुनियाँ में एकता और शांति स्थापित करूँगा’’ । उन्होंने पोप से वेटिकन में वायदा किया था कि ‘‘मैं विश्व में शान्ति स्थापित करने के लिए अब और भी अधिक दृढ़ संकल्पित हूँ’’। 

श्री शिशिर श्रीवास्तव , हेड, इंटरनेशनल रिलेशन्स, सी.एम.एस. ने बताया कि डाॅ. जगदीश गाँधी ने अपने पत्र में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से दुनियाँ को एकजुट करने की अपील की है। डाॅ. गाँधी ने राष्ट्रपति ट्रम्प के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने उत्तरी कोरिया के शासक किम जोंग के साथ दोस्ती करके दुनियाँ को परमाणु-युद्ध की विभषिका से बचा लिया तथा इस प्रकार से उन्होंने एक ऐतिहासिक उदाहरण प्रस्तुत किया है। पिछले दो विश्व युद्धों में दुनियाँ को बहुत बड़ा नुकसान पहले ही हो चुका है। अब अगर तीसरा विश्व युद्ध हुआ तो वह एक परमाणु-युद्ध होगा और मानवता का अंत हो जायेगा। 

प्रेस से बातचीत में डाॅ. गाँधी ने बताया कि अमेरिका के पिछले तीन राष्ट्रपतियों ने पूर्णतया विश्व शान्ति के सफल प्रयास किये थे। लीग आॅफ नेशन्स की स्थापना प्रथम विश्वयुद्ध के बाद तत्कालीन अमेरिका के राष्ट्रपति वुडरो विल्सन के प्रयासों से हुई, ताकि मानवजाती को दूसरे विश्वयुद्ध की विभीषिका का सामना न करना पडे़ लेकिन दुर्भाग्यवश 1939 में द्वितीय विश्वयुद्ध शुरू हो गया और इसकी समाप्ति के बाद तत्कालीन अमेरिका के राष्ट्रपति फ्रेकलिन डी0 रूजवेल्ट के प्रयासों से 1945 में यू0एन0ओ0 की स्थापना हुई ताकि अब ऐसी विभीषिका की पुनरावृत्ति न हो। अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी ट्रूमैन ने मार्शल प्लान के माध्यम से 13 बिलियन डाॅलर्स की आर्थिक सहायता द्वारा 28 देशों की यूरोपियन यूनियन व यूरोपियन पार्लियामेन्ट बनी जिससे यूरोपियन युद्ध रूक गया तथा यूरोप का आर्थिक विकास सम्भव हो पाया।

डाॅ. जगदीश गाँधी ने पूर्व विश्व नेताओं का हवाला देते हुए विश्व एकता स्थापित करने के लिए राष्ट्रपति ट्रम्प की प्रतिबद्धता की सराहना की। तथा उनसे आग्रह किया है कि वे विश्व के सभी राजनेताओं की बैठक बुलाये तथा विश्व एकता स्थापित करके दुनियाँ के 2.5 अरब बच्चों और आगे जन्म लेने वाली पीढ़ियों की सुरक्षा करें। सिटी मोन्टेसरी स्कूल माननीय ट्रम्प से सकारात्मक पहल की प्रतिक्षा कर रहा है और एक स्थिर और प्रभावी वैश्विक लोकतंत्र (विश्व संसद) बनाने का आग्रह करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पूर्ण खबरें