ईईएफ में होगा एशिया-प्रशांत क्षेत्र में उच्च शिक्षा पर सहयोग का 8वां सम्मेलन

यहां बुधवार से शुरू हुआ पांचवां ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (ईईएफ) चार और पांच सितंबर को एशिया-प्रशांत क्षेत्र में उच्च शिक्षा पर सहयोग के आठवें एपेक सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इस कार्यक्रम में एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों के शिक्षा मंत्री, प्रमुख यूनिवर्सिटीज के रेक्टर (कुलाधिसचिव), संबंधित विभाग के निदेशक, वैज्ञानिक और विशेषज्ञ शामिल होंगे। ईईएफ की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, सम्मेलन का शीर्षक ’21वीं सदी में एपेक : शिक्षा के लिए नया दृष्टिकोण’ है। सम्मेलन के बाद इसमें सुझाए गए प्रस्तावों और अनुशंसाओं को इसी साल नवंबर में चिली में होने वाले एपेक सम्मेलन में प्रस्तुत किया जाएगा।

रूस संघ के विज्ञान और उच्च शिक्षा मंत्री मिखाइल कोट्यूकोव और फार ईस्टर्न फेडरल यूनिवर्सिटी के रेक्टर निकिता एनीसिमोव के साथ पूर्ण अधिवेशन सम्मेलन का मुख्य आकर्षण होगा। इनके अलावा जापान की तोकाई यूनिवर्सिटी के रेक्टर कियोशी यामाडा, भारत की एमिटी यूनिवर्सिटी के रेक्टर अतुल चौहान और एशिया तथा प्रशांत में यूनिवर्सिटी मोबीलिटी संगठन (यूएमएपी) के कार्यकारी निदेशक यूको कोबायाकावाभी सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

सत्र में एपेक देशों के बीच विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में संभावनाओं और क्षमताओं, एशिया के आर्थिक विकास में यूनिवर्सिटीज की भूमिका, विश्व स्तरीय प्रतिस्पर्धी शोध केंद्रों में बदलती यूनिवर्सिटीज और रूस तथा एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों की यूनिवर्सिटीज में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा होगी। सम्मेलन का पूर्ण अधिवेशन चार सितंबर को होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *