अंबाला में पांच राफेल की हैप्‍पी लैंडिंग, प्रधानमंत्री ने जताई ख़ुशी

अंबाला :  भारतीय वायुसेना के बेड़े में पांच सुपरसोनिक राफेल शामिल हो गए हैं। इन फाइटर विमानों की अंबाला एयरबेस पर हैप्‍पी लैंडिंग हो गई ह‍ै। विमानों का एयरबेस पर उतरने के बाद वाटर सैल्‍यूट (Water salute) देकर स्‍वागत किया गया। इस मौके पर वायुसेना अध्‍यक्ष एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया सहित वायुसेना के प्रमुख अधिकारी मौजूद हैं।

लैंडिंग से पहले इन विमानों ने अंबाला एयरबेस की परिक्रमा की। अंबाला में धूप निकल आई है। ऐसे में लैंडिग में कोई समस्‍या नहीं रही।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह‍ ने राफेल की लैंडिंग के बाद खुशी जाहिर की। उन्‍होंने कहा कि इससे भारतीय वायुसेना और शक्तिशाली हो गई है। भारत के दुश्‍मनों को अब सावधान हो जाना चाहिए। अंबाला एयरबेस पर लैंडिंग के बाद पांचों राफेल सुपरसोनिक विमानों को वाटर सैल्‍यूट दिया गया। वाटर कैनन से यह सलामी दी गई। एयरबेस पर पहुंचने के बाद राफेल और इन्‍हें फ्रांस से लाने वाले जांबाज पालयटों का वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने स्‍वागत किया।

अंबाला में राफेल की लैंडिंग के बाद उन्‍हें वाटर सैल्‍यूट दिया गया। उनको वाटर कैनन से Water salute दिया गया। यह दूसरा मौका है जब बड़े फाइटर विमान को अंबाला एयरबेस पर भारत में सबसे पहले लैंडिंग हुई है।

इससे पहले जगुआर फाइटर प्‍लेन की अंबाला एयरफाेर्स स्‍टेशन पर लैंडिंग हुई थी।  पांचों राफेल विमान को लाने वाली टीम की अगुवाई वायुसेना अधिकारी ग्रुप कैप्‍टन हरकीरत सिंह कर रहे थे। उनकी विंग कमांडर पत्‍नी अभी अंबाला एयरफोर्स स्‍टेशन में ही कायर्रत हैं।

https://twitter.com/rajnathsingh/status/1288413583173234690

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अंबाला एयरबेस पर पांच राफेल विमानों की लैंडिंग पर खुशी जताई। उन्‍हाेंने ट्वीट कर अपनी खुशी जताई। उन्‍होंने लिखा, राफेल अंबाला में सुरक्षित रूप से उतर गए हैं। भारत में राफेल लड़ाकू विमान का टच डाउन हमारे सैन्य इतिहास में एक नए युग की शुरुआत है। ये मल्टीरोल विमान भारतीय वायु सेना की क्षमताओं में क्रांति लाएंगे।

इसके बाद उन्‍होंने दूसरा ट्वीट किया। उन्‍होंने कहा, मैं जोड़ना चाहूंगा, अगर ऐसा कोई है जिसे भारतीय वायु सेना की इस नई क्षमता के बारे में चिंतित या आलोचनात्मक होना चाहिए, तो यह वह होना चाहिए जो हमारी क्षेत्रीय अखंडता को खतरे में डालना चाहते हैं।

मैं, जोड़ना चाहते हैं, तो यह उन सभी के बारे में चिंतित होना चाहिए या महत्वपूर्ण भारतीय वायु सेना की इस नई क्षमता के बारे में है, यह जो लोग हमारे क्षेत्रीय अखंडता के लिए खतरा करना चाहते हैं होना चाहिए: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पूर्ण खबरें