मॉनसून सत्र शुरू, समाजवादी पार्टी के विधायकों ने PPE किट पहनकर किया प्रदर्शन

लखनऊ: महामारी कोरोना के संक्रमण के बढ़ते प्रसार के बीच उत्तर प्रदेश में गुरुवार से विधानमंडल का मानसून सत्र शुरू हो गया है | विधान भवन में कार्यवाही शुरू होने से पहले समाजवादी पार्टी के विधायकों ने विधानसभा के बाहर जमकर हंगामा किया | हाथ में तख्ती के साथ समाजवादी पार्टी के के विधायक योगी आदित्यनाथ सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे थे | कानून व्यवस्था और कोरोना की आड़ में लूट-पाट जैसे स्लोगन की तख्ती डाले हुए समाजवादी पार्टी के विधायकों ने विधानसभा गैलरी के बाहर और गेट नंबर 2 पर प्रदर्शन किया | 

PPE किट पहनकर प्रदर्शन करते दिखे विधायक

पीपीई किट पहनकर विधानसभा पहुंचे सपा विधायकों ने चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने धरना प्रदर्शन किया | कुछ विधायकों ने यूरिया की बोरी पहन कर स्लोगन लिखा कि ‘मुझे किसानो को नहीं बल्कि दलालों को बेचा जा रहा है !’ समाजवादी पार्टी ने पहले ही कहा था कि वो खाद में कालाबाजारी का मुद्दा उठाने वाली है |

स्वास्थ्य मंत्री जेपी सिंह का रास्ता रोका

सपा विधायकों ने विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में स्वास्थ मंत्री का रास्ता भी रोका | स्वास्थ मंत्री जयप्रताप सिंह को घेर कर कोविड संक्रमण के मामले पर विधायकों ने सवाल किया | स्वास्थ्य मंत्री को सपा विधायकों ने बताया की यूपी में कोरोना की स्थिति काफी खराब है | स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने सभी विधायकों की बात की बात सुनी और फिर अंदर चले गए |

समाजवादी पार्टी का राजनीतिक प्रपंच है: बीजेपी

समाजवादी पार्टी के विरोध को बीजेपी के प्रवक्ता चंद्रभूषण ने राजनीतिक प्रपंच करार दिया है | उन्होंने कहा है कि समाजवादी पार्टी के पास कोई मुद्दा बचा नहीं है, ऐसे में मुद्दाविहीन पार्टी होकर सपा इस तरह के हथकंडे अपना रही है |

मॉनसूत्र सत्र को छोटा किया गया

आज से शुरू हुए प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र को कोरोना वायरस संक्रमण के चलते छोटा किया गया है | बचाव के सभी इंतजाम के बीच चार दिन में 16 विधेयकों को मंजूर कराने की सरकार की तैयारी है | पहली बार सदन में कुछ लोग वर्चुअल ढंग से उपस्थित होंगे | 65 वर्ष से अधिक उम्र के विधायकों को सत्र में वीडियो कांफ्रेंसिंग से जोड़ा जाएगा | कोरोना महामारी के दौरान संवैधानिक बाध्यता के कारण इस सत्र के लिए अनेक ऐसी व्यवस्थाएं करनी पड़ रही हैं | विधानसभा के इतिहास में पहली बार इस तरह की व्यवस्था की जा रही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पूर्ण खबरें